रविवार, 2 फ़रवरी 2020

Tagged Under: , ,

स्वास्थ्य विभाग ने नोवेल कोरोना-वायरस के निगरानी को लेकर जारी किया एडवाइजरी

लेखक: अपना समाचार दिनांक: फ़रवरी 02, 2020
  • शेयर करे

  • स्वास्थ्य विभाग ने नोवेल कोरोना-वायरस के निगरानी को लेकर जारी किया एडवाइजरी
    • चीन के वुहान शहर से फैला था वायरस 
    • सभी जिलों को रोग से संबंधित समीक्षा एवं निगरानी का दिया गया निर्देश
    • हवाईअड्डों पर चीन से आने वाले सैलानियों की थर्मल स्क्रीनिंग पर होगा ज़ोर 
    • राज्य सर्विलांस अधिकारी रखेंगे पैनी नजर 

    पूर्णियाँ : चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना-वायरस के मद्देनजर केंद्र सरकार के साथ बिहार सरकार भी गंभीर है. बिहार सरकार नियमित रूप से स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कोरोना-वायरस के संबंध में प्रेषित की जा रही एडवाइजरी/ अपडेट एवं दिशा-निर्देशों की समीक्षा कर रहा है.  इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के आलोक में सभी जिलों को एडवाइजरी जारी किया है. यद्यपि बिहार में नोवेल कोरोना-वायरस का अभी तक कोई भी मामला प्रतिवेदित नहीं हुआ है.

    संक्रमण की समीक्षा, निगरानी एवं रोकथाम के निर्देश:
    चीन एवं उसके समीपवर्ती देशों में कोरोना-वायरस के प्रभाव को देखते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार ने सभी राज्यों को दिशा निर्देश जारी किया है. इसके आलोक में राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को सभी जिलों को एडवाइजरी जारी किया है. जिसमें रोग से संबंधित समीक्षा, निगरानी, संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए समुचित तैयारी रखने के निर्देश जिलों को दिए गए हैं. 

    चीन से पर्यटन के लिए सैलानियों पर पैनी नजर: 
    राज्य में पर्यटन के उद्देश्य से बुद्धा सर्किट के पर्यटन स्थलों पर चीन एवं उसके समीपवर्ती देशों से सैलानियों का आवागमन रहता है. इसके मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने हवाईअड्डों के अधिकारीयों से संपर्क कर हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग के विषय पर विमर्श कर सतर्कता रखने तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रेषित दिशानिर्देशों के पालन का अनुरोध किया है. 

    राज्य सर्विलांस अधिकारी को दी गयी जिम्मेदारी: 
    प्रधान सचिव ने संबंधित राज्य स्तरीय अधिकारीयों के साथ बैठक कर हालात पर कड़ी नजर रखने के लिए निर्देशित किया है. कोरोना-वायरस के निगरानी के लिए इंट्रीगेटेड डिजीज ऑफ़ सर्विलांस प्रोग्राम(आईडीएसपी) के राज्य सर्विलांस अधिकारी को नोडल पदाधिकारी के रूप में नामित किया गया है, जो जिलों तथा स्वास्थ्य संस्थानों से निरंतर संपर्क में रहेंगे. 
    जिलों को भेजे गए रिपोर्टिंग फॉर्मेट: 
    स्वास्थ्य विभाग ने आईडीएसपी द्वारा विकसित रिपोर्टिंग फॉर्मेट को सभी जिलों एवं स्वास्थ्य संस्थानों को भेजा है ताकि जिले इस रोग के प्रति सतर्क रहें, रोग की रिपोर्ट करें एवं संदिग्ध मामलों की लगातार निगरानी की जा सके. 
    यह है पूरा मामला: 
    जिला सिविल सर्जन डॉ मधुसूदन प्रसाद ने बताया कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार के सचिव प्रीति सूदन द्वारा 17 जनवरी को सभी राज्यों के मुख्य सचिवों को पत्र लिख कर इस रोग के विषय में जानकारी दी थी. पत्र में बताया गया था कि चीन के वुहान शहर में कोरोना-वायरस के 41 मामलों की पुष्टि हुयी थी. हालाँकि 3 जनवरी के बाद वुहान शहर से कोई नए मामलों की पुष्टि नहीं हुयी है. इसके अलावा ट्रेवल संबंधित कारणों के कारण कोरोना-वायरस के एक-एक मामले थाईलैंड एवं जापान में भी मिले हैं. सभी मामलों में निमोनिया एवं गंभीर श्वसन के लक्षण पाए गए हैं.

    विवरण: स्वास्थ्य विभाग ने नोवेल कोरोना-वायरस के निगरानी को लेकर जारी किया एडवाइजरी • चीन के वुहान शहर से फैला था वायरस • सभी जिलों को रोग से संबंधित समीक्षा एवं निगरानी का दिया गया निर्देश • हवाईअड्डों पर चीन से आने वाले सैलानियों की थर्मल स्क्रीनिंग पर होगा ज़ोर • राज्य सर्विलांस अधिकारी रखेंगे पैनी नजर

    0 टिप्पणियाँ:

    टिप्पणी पोस्ट करें