गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020

Tagged Under: ,

फैमिली प्लानिंग कार्नर - परिवार नियोजन के लिए सार्थक पहल

लेखक: अपना समाचार दिनांक: फ़रवरी 13, 2020
  • शेयर करे

  • फैमिली प्लानिंग कार्नर - परिवार नियोजन के लिए सार्थक पहल  
    - लोगों को परिवार नियोजन के स्थायी व अस्थायी तरीकों की दी जा रही जानकारी
    - सभी प्रखंडों के एएनएम को दिया गया है प्रशिक्षण

    पूर्णियाँ : बढ़ती जनसंख्या के स्थिरीकरण के लिये स्वास्थ्य एवम्‌ परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदेश में परिवर नियोजन कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है. सरकार द्वारा संचालित इस कार्यक्रम का मुख़्य उद्देश्य सिर्फ जनसंख्या स्थिरीकरण ही नहीं बल्कि इसके माध्यम से प्रजनन स्वास्थ्य कों सुदृढ़ करते हुयेस्वस्थ्य परिवार निर्मित करना भी है. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा जिले के  सभी प्रखण्डस्तरीय  स्वास्थ्य केन्द्रों में फैमिली प्लानिंग कार्नर खोला गया, जहां एएनएम द्वारा लोगों को परिवार नियोजन के साधनों की जानकारी दी जाती है व उन्हें जरूरी साधन उपलब्ध भी कराए जाते हैं. 


    सभी प्रखंडों के 2-2 एएनएम को दिया गया है प्रशिक्षण :
    केअर इंडिया के डिस्ट्रिक्ट टीम लीड, आलोक पटनायक ने बताया जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों व उपकेंद्रों पर फैमिली प्लानिंग कार्नर उपलब्ध है. इसके लिए केअर इंडिया और परिवार नियोजन काउंसेलर द्वारा जिले की सभी एएनएम को प्रशिक्षण दिया गया है. इन एएनएम द्वारा स्वास्थ्य केंद्र में जितनी भी महिलाएं प्रसव या टीकाकरण के लिए आती है, उन सभी को फैमिली प्लानिंग कार्नर में परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों की जानकारी दी जाती है. कार्नर में परिवार नियोजन के सभी साधन भी उपलब्ध होते हैं. जो इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं उन्हें वहां मुफ्त में दवाइयां, इन्जेक्शन आदि भी उपलब्ध कराए जाते हैं.

    स्थायी व अस्थायी दवाइयां है उपलब्ध :
    फैमिली प्लानिंग कार्नर की एएनएम शोभा रानी सोरेन ने कहा परिवार नियोजन कार्नर पर जरूरत के सभी स्थायी व अस्थायी दोनों ही साधन उपलब्ध होते हैं. जो परिवार स्थायी साधन का इस्तेमाल करना चाहते हैं जैसे कि पुरूष नसबंदी, महिला बंध्याकरण इत्यादि उन्हें अस्पताल में भेज दिया जाता है, जबकि अस्थायी साधन के रूप में अंतरा इंजेक्शन, कॉपर-टी, छाया,  माला-एन, इजी पिल्स, कंडोम आदि फैमिली प्लानिंग कार्नर में दिया जाता है. उसके इस्तेमाल और सावधानियों की जानकारी भी परिवार नियोजन कार्नर में दी जाती है.

    आ रहा रहा है बड़ा बदलाव :
    जिला सिविल सर्जन डॉ मधुसूदन प्रसाद ने कहा फैमिली प्लानिंग कार्नर की वजह से जिले में परिवार नियोजन के प्रति लोगों में बहुत जागरूकता आ रही है. यहाँ लोगों को आसानी से परिवार नियोजन के साधनों की जानकारी मिल जाती है व जरूरी दवाइयां भी उपलब्ध हो जाती है. देखा गया है कि यहाँ से लाभ लेने वाले आम लोग भी अपने क्षेत्र में इसकी जानकारी देते हैं जिससे आसपास के लोग भी इस सुविधा का लाभ उठा रहे हैं.
    विवरण: बढ़ती जनसंख्या के स्थिरीकरण के लिये स्वास्थ्य एवम्‌ परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा प्रदेश में परिवर नियोजन कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है. सरकार द्वारा संचालित इस कार्यक्रम का मुख़्य उद्देश्य सिर्फ जनसंख्या स्थिरीकरण ही नहीं

    0 टिप्पणियाँ:

    टिप्पणी पोस्ट करें