शनिवार, 19 अक्तूबर 2019

Tagged Under: ,

सभी सरकारी अस्पतालों में लगा है कंडोम बॉक्स

लेखक: अपना समाचार दिनांक: अक्तूबर 19, 2019
  • शेयर करे


    • अस्पतालों में लगे कंडोम बॉक्स की तरफ बढ़ा लोगों का रुझान , जनसंख्या स्थिरीकरण में सहयोग  
    • सभी सरकारी अस्पतालों में लगा है कंडोम बॉक्स
    • अस्पतालों में नि:शुल्क उपलब्ध है निरोध


    पूर्णियाँ:  परिवार नियोजन की सेवाओं में बढ़ोतरी एवं अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग नि:शुल्क कंडोम वितरित कर रहा है। देखा जाए तो काफी संख्या में ऐसे लोग भी हैं जो शर्म की वजह से इसे दुकान और विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी से नहीं मांग पाते। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने एक  व्यवस्था बनाई है जिससे सहज रूप से कंडोम मिल जाता है। विभाग की ओर से जिले के सदर अस्पताल समेत प्रत्येक प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पीएचसी व सीएचसी पर कंडोम बॉक्स लगाए गए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत मिशन परिवार विकास कार्यक्रम के अंतर्गत जिले के सभी अस्पतालों में एक-एक बॉक्स लगाने का निर्देश जारी किया गया था जिससे लोग वहां से कंडोम का पैकेट नि:शुल्क ले सकें।
    आसान उपलब्धता पर ज़ोर : 
    जिले के कई स्थानों पर परिवार नियोजन कार्यक्रम को बढ़ावा दिए जाने के लिए जिला स्वास्थ्य समिति की ओर से कंडोम बॉक्स की सुविधा प्रदान की गई है। इस सुविधा के अंतर्गत आम लोगों को परिवार नियोजन कार्यक्रम को बढ़ावा दिए जाने के लिए सुविधा के तौर पर नि:शुल्क कंडोम बॉक्स लगाया गया है। इस कंडोम बाक्स में प्रर्याप्त मात्रा में कंडोम की सुविधा रखी गई है ताकि जरूरतमंद लोग इसे सुविधा अनुसार लेकर सदुपयोग कर सके।
    इसलिए पड़ी जरूरत: 
    राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण- 4 के अनुसार जिले में 0.9 प्रतिशत लोग ही अनचाहे गर्भ से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करते हैं। जागरूकता की कमी एवं स्थानीय स्तर पर आसानी से कंडोम की उपलब्धता नहीं होना भी इसके इस्तेमाल में कमी को दर्शाता है। इसको ध्यान में रखते हुये ही जिला से लेकर प्रखण्ड स्तरीय अस्पतालों में कंडोम बॉक्स लगाए गए हैं।   
    पहले की तुलना में पुरूषों में आयी जागरूकता:
    सिविल सर्जन डॉ. मधुसूदन प्रसाद  ने बताया कंडोम बॉक्स लगाए जाने के बाद पुरुषों में इसके प्रति रुझान में निरंतर बढ़ोतरी देखने को मिल रही है।  कंडोम के प्रयोग के प्रति लोगों में जागरूकता आयी है। पहले के तुलना में अब पुरूष ज्यादा कंडोम का प्रयोग कर रहे हैं। प्रतिदिन कंडोम बॉक्स में कंडोम भरा जाता है और शाम होते ही पूरा कंडोम बॉक्स खाली हो जाता है। कंडोम बॉक्स से लाभार्थी बेझिझक व आसानी से कंडोम प्राप्त कर  रहे हैं। यह परिवार नियोजन में पुरुषों की सहभागिता सुनिश्चित करने में भी भविष्य में असरदार साबित होगा। 
    सभी सरकारी अस्पतालों में भी नि:शुल्क उपलब्ध है कंडोम:
    बॉक्स लगने से बहुत से दंपति जो शर्म की वजह से कंडोम को बाजार से खरीद नहीं पाते थे, अब वह मुफ्त में इसे प्राप्त कर सकते हैं। यदि किसी कारणवश किसी दंपति को बॉक्स में कंडोम नहीं मिल पाता है तो वह स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधिकारी से इसकी शिकायत दर्ज कराकर इसे आसानी से प्राप्त कर सकते हैं।

    कंडोम इस्तेमाल के फ़ायदे: 
    अनचाहे गर्भ से छुटकारा
    जनसंख्या स्थिरीकरण में सहयोगी
    एचआईवी-एड्स के ख़तरे से बचाव
    अन्य यौन संक्रामक रोगों से बचाव

    संवादक: अमन

    इसे भी पढ़े: पटना क्राइसिस ने नीतीश कुमार की विफलता को किया उजागर : तेजस्वी यादव

    विवरण: काफी संख्या में ऐसे लोग भी हैं जो शर्म की वजह से इसे दुकान और विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी से नहीं मांग पाते। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने एक व्यवस्था बनाई है जिससे सहज रूप से कंडोम मिल जाता है।

    0 टिप्पणियाँ:

    टिप्पणी पोस्ट करें